September 28, 2022
Wazu ki dua

Wazu से पहले और बाद की दुआ – वज़ु की दुआ | Wazu ki dua

Wazu Ki Dua :- जब भी हम नमाज पढ़ते हैं, तो उससे पहले वज़ू जरूर करते हैं। नमाज पढ़ने से पहले वज़ू करना अत्यंत आवश्यक है क्योंकि इसके बिना हमारी नमाज पूरी नहीं होती है।

इसके अलावा जब भी हम वज़ू करते हैं, तो वज़ू करने के पहले दुआ पढ़ते हैं और वज़ू करने के बाद भी दुआ पढ़ते हैं।

परंतु कई लोग ऐसे हैं जो वज़ू की दुआ पढ़ना भूल जाते हैं या उन्हें याद नहीं रह पाता। इसलिए आज के इस लेख में हम Wazu Ki Dua के बारे में विस्तार पूर्वक जानकारी देंगे। कृपया हमारे लेख को पूरा जरूर पढ़ें।


वज़ु की दुआ क्या है ? | Wazu ki dua In Hindi

नमाज शुरू करने से पहले जब हम स्वयं को शुद्ध और पाक साफ करते हैं, तो उसे वज़ू कहते हैं। वज़ू एक ऐसा कार्य है जिसके माध्यम से हम अपने आप को नमाज पढ़ने के लिए शारीरिक और मानसिक रूप से तैयार करते हैं।

वज़ू एक पाकीजगी प्रक्रिया है जिसमें सही ढंग से हाथ, मुंह, नाक, चेहरा, पैर, सिर को धोना शामिल है।


वज़ू कब किया जाता है ?

सभी इस्लामी दिन में 5 बार नमाज पढ़ते हैं और नमाज पढ़ने से पहले वज़ू किया जाता है। वज़ू उस अवस्था में दोबारा नहीं किया जाएगा जब तक कि आपका वज़ू टूट ना जाए।

यदि आपका वज़ू नमाज पढ़ने से पहले टूट जाता है तो आपको वज़ू को दोहराने की जरूरत है।


वज़ू कब टूट जाता है ?

वज़ू उस अवस्था में टूट जाता है जब आपने गलत जगह वज़ू की हो वज़ू करते समय अन्य व्यक्ति से बातें की हो गलत तरीके से वज़ू की हो। वज़ू के टूटने की कई अवस्थाएं सामने आ सकती हैं।

जैसे रक्त, स्त्राव, संभोग, उल्टी आ जाना, सो जाना, नशीला पदार्थ ग्रहण करना, पेशाब या पखाना करना इत्यादि। यदि आपने यह सभी क्रियाएं वज़ू करने के बाद की है तो आपको दोबारा से वज़ू करने की जरूरत पड़ेगी।


वज़ू करने की दुआ ( Wazu ki dua )

सभी इस्लामी जब वज़ू कर रहे हो तो उन्हें दुआ पढ़ने की भी जरूरत है। जिससे कि हमारा वज़ू सही ढंग और शुद्ध तरीके से हो पाए। वज़ू करने से पहले, वज़ू करते समय और वज़ू करने के बाद की दुआ हम नीचे बता रहे हैं :-

वज़ू करने से पहले की दुआ

वज़ू करने से पहले हमें बिस्मिल्लाह पढ़ना है और वज़ू करने की दुआ पढ़नी है।

नवैयतु अन वद्दा लिल्लाहि आला

Nawaytu An Atawadda-a Lillahi Ta’ala”


वज़ू में कुल्ली करते वक्त की दुआ

वज़ू मे सबसे पहले कुल्ली करते है, तो उस समय दुआ पढ़ते है :-

अल्लाहुम्मा इन्नी अला तीला वतिल कुरआनी ज़ीक रीक़ शुक रीक़ हुसने इबादती


वज़ू में नाक में पानी डालते वक्त की दुआ

कुल्ली करने के बाद नाक मे पानी डालते है और छोटी बायीं उंगली से नाक को साफ करते है। इसे कराते समय भी दुआ पढ़ी जाती है :-

अल्लाहुम्मा रहनी राए तल जन्नते वला तु रिहनी राए हतन नार।


वज़ू में मुंह धोते वक्त की दुआ

अब वज़ू में मुँह धोएंगे और इस प्रक्रिया को कराते समय वज़ू की दुआ पढ़ेंगे :-

अल्लाहुम्मा बैय्यिद वजही यौम तब यज़ु वु जु हुंव तस वददू वज़ु हु।


वज़ू ने हाथ धोते वक्त की दुआ

मुँह धोने के बाद अब अपने दोनों हाथों को कोहनी तक 3 बार धोएंगे। और नीचे दी गयी दुआ को पढ़ेंगे-

दायें हाथ धोते वक़्त

अल्लाहुम्मा तिनी कीताबी बि यमिनी हासिबनी हिसाबय्यं यमीरा।

बायाँ हाथ धोते वक़्त

अल्लाहुम्मा ला तुअ तिनी किताबि बि शिमाली ला मिंव राए ज़हरी।

वज़ू में सर का मसाह करते वक्त की दुआ

हाथ धोते के बाद अपने गीले हाथों से सर पर एक बार हाथ फेरेंगे इसे ही सर का मसह करना कहते है। यह करते वक्त हम दुआ पढ़ेंगे –

अल्लाहुम्मा अज़िल्लनी तहता ज़िल्ली अरशिका यौम ला ज़िल्ला इल्ला ज़िल्ला अरशिका।’‘


वज़ू में पैर धोते वक्त की दुआ

अब आपको अपने पैरों को 3 बार धोना है और पैर धोते समय दुआ पढ़नी है।

सीधा पैर धोते वक़्त –

अल्लाहुम्मा सब्बित कदमी अलस्सिराती यौ तज़िल्लुल कदामी।

उल्टा पैर धोते वक़्त –

अल्लाहुम्म् मज्अल ज़ंबी मगफ़ुरउं सइ मशकुउं तिजारती लन तबूरा।’‘


वज़ू करने के बाद की दुआ :-

अब जब आप सही तरीके से पूरी वज़ू कर लेते है तो वज़ू करने के बाद भी आपको दुआ पढ़नी है। यह दुआ आपको आसमान की तरफ देखते हुए और अल्लाह को याद कराते हुए पढ़नी है। हम यहाँ आपको वज़ू करने के बाद की 2 दुआ बता रहे है। आप इनमे से कोई भी दुआ पढ़ सकते है।

अल्लाहुम्मज अलनी मिनत तव्वाबीन वज अलनी मीनल मुततातह्हिरिन।’‘

أَشْهَدُ أَنْ لَا إِلَهَ إلَّا اللهُ وَحْدَهُ لَا شَرِيكَ لَهُ، وَأَشْهَدُ أَنَّ مُحَمَّداً عَبْدُهُ وَرَسُولُهُ

अशहदु अल्लाह इल्लाह इल्लल्लाहु वह दाउ

ला अरब लहू अशदुहु अन्न मुहम्मदन अब्दुहु वरसुलुहु।

میں گواہی دیتا ہوں کہ اللّٰه کے سوا کوئی عبادت کےلائق نہیں۔ وہ اکیلا ہے اور اسکا کوئی شریک نہیں اور میں گواہی دیتا ہوں کہ حضرت محمد

اللّٰه کے بندے اور رسول ہیں۔


For More Info Watch This :


निष्कर्ष :

आज के लेख में हमने आपको Wazu ki dua के बारे में जानकारी दी। उम्मीद है कि इस लेख के माध्यम से आपको वज़ू की दुआ के बारे में पूरी जानकारी मिल पाई होगी। यदि आपको इस लेख से संबंधित कोई प्रश्न है तो आप हमसे कमेंट कर के पूछ सकते हैं।


FAQ’s :

प्रश्न 1क्या वज़ू से पहले दुआ पढ़ना जरूरी है ?

उत्तर – जी हाँ, वज़ू से पहले की दुआ यदि आपको याद नहीं है, तो आप बिस्मिल्लाह पढ़ सकते है।

प्रश्न 2क्या वज़ू करना जरूरी है ?

उत्तर – हाँ, वज़ू के बिना किसी की नमाज पूरी नहीं होती और आपकी दुआ अल्लाह तक नहीं पाहुचती है।

Read Also :-

Leave a Reply

Your email address will not be published.