September 28, 2022
Darood e Ibrahim in Hindi | दरूदे इब्राहिम से जुड़ी जानकारी हिंदी में

Darood e Ibrahim in Hindi | दरूदे इब्राहिम से जुड़ी जानकारी हिंदी में

Darood e Ibrahim in Hindi :- अस्सलामु अलैकुम मेरे दोस्तों आपका हार्दिक स्वागत है हमारे इस लेख में आज के इस लेख के मदद से हम दरूदे इब्राहिम के बारे में जानकारी प्राप्त करने वाले हैं, दोस्तों आपने कभी ना कभी तो दरूदे इब्राहिम का नाम तो अवश्य सुना होगा,

या हो सकता है कि आप दरूदे इब्राहिम का दुआ पढ़े भी होंगे मगर क्या आपने कभी यह जानने की कोशिश की है कि आखिर दरूदे इब्राहिम क्या होता है और दरूदे इब्राहिम का तर्जुमा क्या होता है।

अगर आपको इन सभी के बारे में मालूम नहीं है और आप यह सब जानना चाहते हैं तो आप हमारे इस लेख के साथ अंत तक बने रहें क्योंकि इस लेख में हम इसी पर चर्चा करने वाले हैं तो चलिए शुरू करते हैं इस लेख को बिना देरी किए हुए।


What is Darood e Ibrahim in Hindi – (दरूदे इब्राहिम क्या है)

दोस्तों हम आपकी जानकारी के लिए बता दें कि दरूदे इब्राहिम एक सब से अफ़ज़ल दरूद शरीफ है। दोस्तों आपने अक्सर देखा होगा कि जब कोई मुसलमान भाई नमाज पढ़ते हैं, तो नमाज़ पढ़ते वक़्त अतहयात के बाद जो दरूद शरीफ पढ़ते है। तो उसे ही हम दरूदे इब्राहिम कहते है। उम्मीद है कि आपको समझ में आ गया होगा कि दरूदे इब्राहिम क्या है, तो चलिए अब हम अगले टॉपिक की ओर बढ़ते हैं और दरूदे इब्राहिम से जुड़ी कुछ नई जानकारी को प्राप्त करते हैं।


दरूदे इब्राहिम हिंदी में (Darood e Ibrahim in Hindi)

अल्लाहुम्मा सल्लि ‘अला मुहम्मदीन व’ अला’ आलि मुहम्मदीन, कमा सल्लयता ‘अला’ इब्राहीमा व ‘अला’ आली ‘इब्राहीमा,’ इन्नका हमीदुन मजीद।  अल्लाहुम्मा बारिक ‘अला मुहम्मदीन व’ अला ‘आली मुहम्मदीन, कमा बारकता’ अला ‘इब्राहीमा व’ अला’ आली ‘इब्राहीमा,’ इन्नाका हमीदुन मजीद।

अल्लाहुम्मा सल्लि अला मुहम्मदिन व अला अज़वाज़िही व ज़ुर्रिय्यातिहि, कमा सल्लयता अला आली इब्राहीमा। व बारिक अला मुहम्मदिन व अला अज़वाज़िही व ज़ुर्रिय्यातिहि, कमा बारकता अला आली इब्राहीमा। इन्नका हमीदुन मजीद।

” दोस्तों इस टॉपिक में हमने पहली और दूसरी दोनों ही दरूदे इब्राहिम को स्टेप बाय स्टेप करके लिखा है तो आप इसे ध्यान से पढ़ें और समझें और याद रखे”


दरूदे इब्राहिम अरबी में (Darood e Ibrahim in Arabi)

اللّٰهُمَّ صَلِّ عَلَى مُحَمَّدٍ، وَعَلَى آلِ مُحَمَّدٍ، كَمَا صَلَّيْتَ عَلَى إِبْرَاهِيْمَ، وَعَلَى آلِ إِبْرَاهِيْمَ، إِنَّكَ حَمِيْدٌ مَجِيْدٌ، اللّٰهُمَّ بَارِكْ عَلَى مُحَمَّدٍ وَّعَلَى آلِ مُحَمَّدٍ، كَمَا بَارَكْتَ عَلَى إِبْرَاهِيْمَ وَعَلَى آلِ إِبْرَاهِيْمَ، إِنَّكَ حَمِيْدٌ مَجِيْدٌ

اللّٰهُمَّ صَلِّ عَلَى مُحَمَّدٍ وَّعَلَى أَزْوَاجِهِ وَذُرِّيَّتِهِ، كَمَا صَلَّيْتَ عَلَى آلِ إِبْرَاهِيْمَ، وَبَارِكْ عَلَى مُحَمَّدٍ وَّعَلَى أَزْوَاجِهِ وَذُرِّيَّتِهِ، كَمَا بَارَكْتَ عَلَى آلِ إِبْرَاهِيْمَ، إِنَّكَ حَمِيْدٌ مَجِيْدٌ

” दोस्तों इस टॉपिक में हमने पहली और दूसरी दोनों ही दरूदे इब्राहिम को अरबी में स्टेप बाय स्टेप करके लिखा है तो आप इसे ध्यान से पढ़ें और समझें और याद रखे”


दरूदे इब्राहिम की तर्जुमा (Darood e Ibrahim with hindi translation)

ऐ अल्लाह, मुहम्मद पर और मुहम्मद के आल(खानदान) पर अपना फज़ल व करम फरमा, जैसा कि आपने इब्राहिम पर और इब्राहिम के आल(खानदान) पर अपना फज़ल व करम फरमाया, बेशक आप काबिले तारीफ हैं, सबसे शानदार हैं, मैं आपकी काबिलियत का वर्णन कैसे करूँ समझ नही आ रहा है, आप हमारे सोच से परे है।

ऐ अल्लाह, मुहम्मद पर और उनकी बीवियों और औलादों पर अपना फज़ल व करम फरमा, जैसा कि आपने इब्राहिम के आल(खानदान) पर अपना फज़ल व करम फरमाया, बेशक आप काबिले तारीफ हैं, सबसे शानदार हैं।


दरूदे इब्राहिम के फायदे के – (Benefits of Darood e Ibrahim in Hindi)

दोस्तों हमने ऊपर के टॉपिक में दरूदे इब्राहिम से जुड़ी बहुत सी जानकारियां प्राप्त की अब हम इस टॉपिक के माध्यम से दरूदे इब्राहिम पढ़ने के फायदे के बारे में जानने वाले हैं तो चलिए शुरू करते हैं इस टॉपिक को बिना देरी किए हुए।

  • ऐसा माना जाता है कि, दुरूद इब्राहिम पढ़ने से “पढ़ने वाले ब्यक्ति का बुरा वक्त समाप्त हो जाता है।
  • दुरूद इब्राहिम पढ़ने से आपके भूले हुए काम काज और पहले क बाते याद आ जाती है।
  • जो ब्यक्ति दुरूद इब्राहिम पढ़ता है, अगर वह कर्ज मे डूबा हुआ है तो उसका क़र्ज़ जल्दी अदा हो जाता है।
  • जो ब्यक्ति पूरे लगन के साथ दुरूद इब्राहिम पढ़ता है वह मुहम्मद सल्ल्लाहु अलैहि वसल्लम का प्रिय बन जाता हैं।
  • दुरूद इब्राहिम पढ़ने वाले ब्यक्ति का दिल दया और प्रकाश से भर जाता है और उसके साथ हमेशा अच्छा होता है।
  • दरूद शरीफ भेजना दोज़ख की आज से बचाता है।
  • दुरूद शरीफ को ज़ोर से पढ़ने वाले व्यक्ति में से पाखंड ख़त्म हो जाता है और वह अपने जीवन मे पाक कार्य को करने लगता है।
  • दुरूद शरीफ भेजना कब्र में और क़यामत के दिन रौशनी के रूप में कार्य करता है।

तो दोस्तों कुछ यही सब दरूदे इब्राहिम के पढ़ने के फायदे हैं तो अगर आप दरूदे इब्राहिम पढ़ते हैं तो इन सभी फायदे को प्राप्त कर सकते हैं। मेरे हिसाब से आप दरूदे इब्राहिम अवश्य पढ़ें क्योंकि यह हमारे लिए काफी फायदेमंद होता है।


Watch This For More Information :-


[ Conclusion, निष्कर्ष ]

दोस्तों आशा करता हूं कि आपको मेरा यह लेख बेहद पसंद आया होगा और आप इस लेख के मदद से दरूदे इब्राहिम क्या है, के बारे में जानकारी प्राप्त कर चुके होंगे।

हमने इस लेख में सरल से सरल भाषा का उपयोग करके आपको दरूदे इब्राहिम, के बारे में बताने की कोशिश की है। आप हमारे दिए गए कमेंट सेक्शन में अपनी राय जरूर दें कि आपको यह लेख कैसा लगा और आपको दरूदे इब्राहिम समझ में आया कि नहीं।


Also Raed :-

Leave a Reply

Your email address will not be published.